donateplease
newsletter
newsletter
rishta online logo
rosemine
Bazme Adab
Google   Site  
Bookmark and Share 
design_poetry
Share on Facebook
 
Zaheer Rahmati
Poet
--: Biography of Zaheer Rahmati :--

 Zaheer Rahmati 

 

 

रामपुर के ज़हीर रहमती की शायरी के छंद पारंपरिक लगते हों लेकिन उनके बिम्ब समकालीन हैं. इसीलिए उनके शेर अलग से चमक उठते हैं और कुछ देर ठहरकर सोचने को मजबूर कर देते हैं. कई बार रघुवीर सहाय की तरह... पढ़ने के बाद सन्नाटा छा जाए. उर्दू की नई शायरी का एक जाना-पहचाना नाम. उनकी शायरी सुनने वाली भी है और पढ़ने वाली भी. हिंदी में पहली  बार प्रकाशित इन ग़ज़लों को पढ़कर कुछ देर सोचते हैं-

 
You are Visitor Number : 1639